From Barack Obama’s book ” Dreams from My father “

गर्मियों की छुटियाँ शुरू हुई तो अलमारी के सबसे ऊपर शेल्फ पर रखी किताबों को टटोला और Barack Obama की किताब “Dreams from my father” निकाल ली पढ़ने के लिए …. Barack Obama ,जो कि United  States के 44th president रहे …अभी किताब के केवल 3 ही chapters पढ़े हैं पर उनमे ही पता चला की Barack Obama का जीवन भी काफी संघर्षपूर्ण रहा …Barack Obama एक African – American थे क्यूंकि उनके पिता अश्वेत अफ्रीकी थे और माँ श्वेत अमेरिकी ………जातिवाद और नस्लवाद की वजह से  Barack  को कई बार काफी भेदभाव  का सामना करना  पड़ा
किताब पढ़ते समय शुरू के कुछ देर तक तो बड़ी उलझन सी लगी की क्या बात चल रही है किसके बारे में चल रही है , पर धीरे धीरे सब समझ आने लगा

Barack के पिता Barack Hussein Obama (जिनको किताब में Barack Senior कहकर सम्बोधित किया गया ) Kenya के रहने वाले थे और लुओ जाती से सम्बन्ध रखते थे ….Barack की माता का नाम Ann था जो अमेरिका के Kansas की रहने वाली थी …माता पिता अपने बेटे को प्यार से Berry पुकारते थे ….पर Berry के माता पिता की शादी कुछ ज़्यादा देर तक नहीं चल पायी और वे तभी से अलग अलग रहने लगे जब Berry बहुत ही छोटे थे(शायद  2 साल के)  ..और उसके पिता ने Berry को तब तक नहीं देखा जब तक वह 10 साल के नहीं हो गये ….

Barack(Berry) का लालण पोषण उसकी माँ Ann ने और उसके नाना नानी ने की….Barack के नाना का नाम Stanley था जिनको Barack  प्यार से Gramp कहकर सम्बोधित करता था और नानी का नाम Madelyn था जिनको Barack (Berry)प्यार से Toot कहकर सम्बोधित करता था ..
.
Barack senior से अलग होने के बाद Berry की माँ ने दूसरी शादी एक इन्डोनेशियाई लड़के से कर ली जिसका नाम Lolo Soetoro था….Lolo के साथ भी Berry ने जीवन के कई यादगार लम्हे बिताए ..वे बहुत शिक्षाप्रद बातें सिखाते थे Berry को

किताब में कुछ वृत्तांत पढ़ने को मिले जिसमे Berry अपने stepfather,Lolo से बातें कर रहे हैं और उन्ही बातों के ज़रिये Lolo उन्हें जीवन के कुछ सबक सीखा रहे हैं

वृत्तांत 1 :–

Lolo से Berry सवाल करते हैं ” क्या आपने कभी किसी इंसान को मारा जाते हुए देखा है ?
Lolo ने कहा—– “हाँ ”
Berry —– ” क्यों मारा गया उस आदमी को ”
Lolo —– –” क्यूंकि वो कमज़ोर था ”
बेर——- — “सिर्फ यही कारण था ?”
Lolo —— “हाँ “…..आमतौर पर मारे जाने की यही वजह होती है ..लोग दूसरों की कमज़ोरी का फायदा उठाते हैं…..ताकतवर लोग कमज़ोर की ज़मीन हड़प लेते हैं …..ताकतवर देश कमज़ोर देश पर कब्ज़ा जमा लेते हैं ……इसलिए कमज़ोर मत रहो…ताकतवर बनो …..अगर ताकतवर नहीं बन सकते तो चतुर बनो और ताकतवर से दोस्ती कर लो …लेकिन ताकत ज़रूरी है ”

     ‘ कमज़ोर मत रहो…ताकतवर बनो ‘

वृत्तांत 2 :–

Berry ने अपने stepfather Lolo की टांगों पर कुछ गहरे घाव देखे और पूछा— “ये घाव कैसे हैं ?”
Lolo —- ये जोंक के निशान हैं …जब मैं कीचड़ भरे रास्ते से गुज़र रहा था तो आर्मी बूट्स के अंदर भी जोंक घुस गयी, जुराबें उतारने पर देखा तो वो चमड़ी के अन्दर तक चिपक गयी थी और मेरा खून पीकर मोटी हो गयी थी ..उन्हें चाकू से खोदकर निकालना पड़ता है ”
Berry —- ” दर्द नहीं हुआ आपको ?”
लोलो—- ” कभी कभी आपको दर्द की चिंता न करते हुए बस इस तरफ ध्यान देना चाहिए की मंज़िल की ओर कैसे पहुंचना है ”

‘  अपने लक्ष्य पर हमेशा नज़र टिकाकर रखो ‘
बहुत शिक्षाप्रद लगे मुझे यह वृत्तांत जिनमे एक पिता द्वारा अपने बेटे को जीवन जीने की कला सिखाई गयी ……

 

Author: Monika

Hi, I am Monika, a teacher by profession and a part time blogger by interest. I share my thoughts about life here at AluBhujia . You can find my thoughts in Hindi as well as English language. To me , life is love, life is helping each other & learning from each other.

4 Replies to “From Barack Obama’s book ” Dreams from My father “”

  1. बहुत अच्छी जानकारी ।
    बराक ओबामा ने फर्श से अर्श का सफर किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar